उत्तर प्रदेश

अपराध बड़ा ठिकाना बना मेरठ का लिसाड़ी गेट

मेरठ। लिसाड़ी गेट मेरठ में अपराध और अपराधियों का बड़ा ठिकाना है। आसपास के जिलों में भी कोई वारदात हो तो इसका कनेक्शन लिसाड़ी गेट से ही जुड़ ही जाता है। लूट, डकैती से लेकर हर तरह का क्राइम यहां अंजाम दिया जाता है। इतना ही नहीं, यहां के अपराधियों के तार भी आसपास के कई राज्यों में फैले हुए हैं। हथियार तस्करी का नेटवर्क भी पुलिस ने यहां खंगाला है। इतना ही नहीं, आतंकियों को गाड़ी सप्लाई करने का मामला भी लिसाड़ी गेट से जुड़ चुका है।
लिसाड़ी गेट में ताबड़तोड़ वारदातें हो रही हैं। अपराध का आंकड़ा यहां जिले में सबसे ऊपर रहता है। यहां के रहने वाले अपराधी भी जिले और इससे बाहर धड़ल्ले से वारदात अंजाम दे रहे हैं। आंकड़ें इस बात की गवाही देते हैं। दनादन एनकाउंटर के बाद भी अपराधियों में खौफ नहीं है। गुरुवार को महिला को गोली मारने की वारदात इस बात की गवाह है कि अपराधी खुलेआम गुंडाराज करते है। लिसाड़ी गेट में पुलिस की सख्ती के बाद अपराधियों ने क्राइम का तरीका और जगह बदल दी, लेकिन क्राइम करना नहीं छोड़ा। यहां से बाहर निकलकर इन अपराधियों ने दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड, पंजाब, मध्यप्रदेश और राजस्थान में पनाह ले ली। इसके बाद यहां शहर में वारदात करते और दूसरी जगह जाकर छिप जाते। इतना ही नहीं, पिछले कुछ महीनों में यहां प्रॉपर्टी को लेकर होने वाले क्राइम में भी इजाफा हुआ है। गोकशी की कई वारदातें हुई और पुलिस पर हमला भी किया गया। इतना ही नहीं, सट्टेबाजी को लेकर भी आला अधिकारियों ने पुलिस को फटकार लगाई। जुटा और सट्टा पुलिस की नाक के नीचे चलता रहा और पुलिस ने हाथ तक नहीं डाला। जब कहीं जाकर अधिकारियों को खुद मैदान में उतरकर कार्रवाई करनी पड़ी। साफ है कि इस बढ़ते क्राइम में कहीं न कहीं पुलिस की शह भी एक कारण है।
लिसाड़ी गेट में फैला हथियारों की तस्करी का नेटवर्कलिसाड़ी गेट में कुछ ही महीने पहले दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने दबिश दी थी। इस दौरान हथियारों की बड़ी खेप पकड़ी थी। खुलासा किया गया कि मुंगेर के कारीगरों से यहां पिस्टल तैयार कराई जा रही थी। पुलिस ने 84 पिस्टल बरामद की। इसके बाद भी मेरठ पुलिस हथियार तस्करों का नेटवर्क नहीं तोड़ पाई।
मुकदमों में भी अव्वल लिसाड़ी गेटथाना
मुकदमेंलिसाड़ी गेट 1405ब्रह्मापुरी 932परतापुर 595गंगानगर 260पल्लवपुरम 304सदर कोतवाली 480शहर कोतवाली 434लालकुर्ती 301देहली गेट 1255सिविल लाइन 480कंकरखेड़ा 1106नौचंदी 521मेडिकल 543रेलवे रोड 192टीपी नगर 1232(1 जनवरी से 31 अगस्त 2018 तक)
पिछले साल की प्रमुख छेड़छाड़ की घटनाएं-
लिसाड़ी गेट में छेड़छाड़ के विरोध में पति के साथ मारपीट कर दी गई। घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया।- लिसाड़ी गेट में छत पर सो रही एक युवती से पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति ने दुष्कर्म की कोशिश की।- तारापुरी गली नंबर आठ में युवक पड़ोस में रहने वाली युवती से पिस्टल के बल पर कई महीनो से रेप किया। इस दौरान आरोपी ने युवती की अश्लील वीडियो भी बनाई।- जाकिर कालोनी में सपा नेता की पत्नी के साथ मोहल्ले में रहने वाले दो युवकों ने घर में घुसकर रेप की कोशिश की।- जाकिर कॉलोनी से सोमवार शाम को पड़ोसी युवकों ने घर के बाहर खड़ी युवती के साथ छेड़छाड़ कर दी। इसके बाद घर में घुसकर युवती को खींचने की कोशिश कर तोड़फोड़ करते हुए फायरिंग की।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *