सेहत

कई समस्याओं को बेहद आसानी से दूर करता है सेंधा नमक

ऐसा माना जाता है कि सेंधा नमक के पानी से स्नान करने पर मसल्स में दर्द व क्रैम्प आदि से राहत मिलती है। जिसके कारण न सिर्फ व्यायाम प्रदर्शन बेहतर होता है, बल्कि इससे मांसपेशियों की रिकवरी भी होती है।
सेंधा नमक हर घर में बेहद आसानी से पाया जाता है। यूं तो लोग इसका प्रयोग अक्सर व्रत आदि में करते हैं लेकिन इसकी मदद से कई तरह की बीमारियों से भी राहत पाई जा सकती है। चाहे मांसपेशियों में दर्द हो या स्वयं को रिलैक्स करना हो, यह बेहद काम आता है। अगर इसका सही तरह से प्रयोग किया जाए तो इससे कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किए जा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में−
ऐसे करता है काम
जब सेंधा नमक पानी में घुल जाता है तो यह मैग्नीशियम व सल्फेट आयन रिलीज करता है। यह तत्व त्वचा द्वारा अवशोषित किए जाते हैं और फिर कई तरह की समस्याओं से राहत मिलती है। इसके स्वास्थ्य लाभों के कारण ही बहुत से हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स इसे वैकल्पिक उपचार के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं। आप भी इसका प्रयोग नहाने के पानी में कर सकते हैं या फिर इसे पानी में घोलकर भी पिया जा सकता है।
मिलता है मैग्नीशियम
अगर आप सेंधा नमक का प्रयोग करते हैं तो इससे शरीर को मैग्नीशियम प्राप्त होता है। मैग्नीशियम शरीर में चौथा सबसे प्रचुर खनिज माना गया है। यह दिल और नर्वस सिस्टम के लिए बेहद आवश्यक है। हालांकि बहुत से लोग अपनी डाइट में पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम नहीं लेते हैं। ऐसे में सेंधा नमक के पानी से नहाना यकीनन आपकी हेल्थ के लिए अच्छा रहेगा।
करें कब्ज का उपचार
कब्ज के उपचार में मैग्नीशियम का एक अहम रोल होता है, यह बाउल मूवमेंट को ठीक करने में सहायक है। कुछ लोग कब्ज का उपचार करने के लिए दवाईयों का सहारा लेते हैं। लेकिन अगर आप चाहें तो सेंधा नमक के पानी का सेवन करके भी अपनी समस्या से राहत पा सकते हैं। इसके लिए व्यस्क करीबन 10 से 30 ग्राम सेंधा नमक को 237 मिली पानी में घोलकर तुरंत पीएं। आपको कुछ ही देर में असर दिखाई देगा।
व्यायाम प्रदर्शन में सुधार
ऐसा माना जाता है कि सेंधा नमक के पानी से स्नान करने पर मसल्स में दर्द व क्रैम्प आदि से राहत मिलती है। जिसके कारण न सिर्फ व्यायाम प्रदर्शन बेहतर होता है, बल्कि इससे मांसपेशियों की रिकवरी भी होती है।
दर्द में सहायक
सेंधा नमक दर्द व सूजन को कम करने में सहायक है। अक्सर देखा गया है कि सेंधा नमक से स्नान करने पर लोगों को फाइब्रोमायल्जिया और गठिया के लक्षणों में सुधार होता है। इसके पीछे का कारण सेंधा नमक में मैग्नीशियम की उच्चता भी होती है। दरअसल, फाइब्रोमायल्जिया और गठिया से पीडि़त लोगों में मिनरल्स की कमी होती है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *