सेहत

क्या आप जानते हैं आम के पत्तों से मिलने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में

नई दिल्ली। आम के पत्ते गुर्दे की पथरी और पित्त पथरी के इलाज में मदद करते हैं। इसके लिए आम के पत्तों को छाया में रखकर उसे सूखा लें और फिर उसका बारीक पाउडर बना लें। अब आप पानी में पाउडर डालकर रातभर के लिए रख दें। अगली सुबह उस पानी का सेवन करें।
गर्मी के मौसम में आप आम का सेवन तो करते होंगे, लेकिन क्या आप इसके पत्तों से होने वाले फायदों के बारे में जानते हैं। आम को यूं ही फलों का राजा नहीं कहा जाता। जहां एक ओर आम का सेवन स्वाद और सेहत से भरपूर होता है, वहीं आम के पत्तों की मदद से कई बीमारियों का इलाज आसानी से किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं आम के पत्तों से होने वाले कुछ जबरदस्त स्वास्थ्य लाभों के बारे में−
मधुमेह का इलाज
आम के पत्ते मधुमेह का इलाज प्राकृतिक और बेहतरीन तरीके से करते हैं। दरअसल, आम की पत्तियों में एंथोसाइनिडिन्स नामक टैनिन होता है, जो शुरुआती मधुमेह के इलाज में मदद करता है। मधुमेह के इलाज के लिए आप आम की पत्तियों को रातभर के लिए एक कप पानी में भिगो दें। अगले दिन आप छानकर इसका सेवन करें।
कम करे ब्लड प्रेशर
जिन लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या रहती है, उनके लिए भी आम की पत्तियां बेहद लाभदायक है। उनमें हाइपोटेंशन गुण होते हैं। वे रक्त वाहिकाओं को मजबूत करने और वैरिकाज नसों की समस्या का इलाज करने में मदद करते हैं।
पित्त और गुर्दे की पथरी का इलाज
आम के पत्ते गुर्दे की पथरी और पित्त पथरी के इलाज में मदद करते हैं। इसके लिए आम के पत्तों को छाया में रखकर उसे सूखा लें और फिर उसका बारीक पाउडर बना लें। अब आप पानी में पाउडर डालकर रातभर के लिए रख दें। अगली सुबह उस पानी का सेवन करें।
सांस संबंधी समस्याएं
आम के पत्ते सांस संबंधी सभी प्रकार की समस्याओं के इलाज में सहायक है। खासतौर से, अगर कोई व्यक्ति कोल्ड, ब्रोंकाइटिस और अस्थमा से पीडि़त है, वह इसका सेवन अवश्य करें। इसके सेवन के लिए आम की पत्तियों को थोड़े से शहद के साथ पानी में उबालकर काढ़ा बनाएं। इस काढ़े का सेवन करने से खांसी ठीक होती है। यह आवाज की कमी को ठीक करने में भी मदद करता है।
कान में दर्द
कान में दर्द होने पर व्यक्ति काफी परेशान होता है। ऐसे में आप आम के पत्तों को बतौर घरेलू उपाय इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप आम के पत्तों का रस निकालें और फिर उसे हल्का सा गर्म करें। ध्यान रखें कि रस बहुत अधिक गर्म न हो, आप गुनगुने रस का प्रयोग कर सकते हैं। अब इस रस की दो−तीन बूंदे कान में डालें। इससे आपको काफी राहत मिलेगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *