अंतर्राष्ट्रीय

क्वेटा ISIS हमला: जांच के लिए PAK ने बनाई टीम, हजारा समुदाय का धरना जारी

कराची। पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत में हजारा शिया समुदाय के लोगों को निशाना बनाकर किए गए आत्मघाती हमले की जांच के लिए एक टीम गठित की गयी है जिसमें आतंकवाद विरोधी विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को शामिल किया गया है।
इस बीच बेहतर सुरक्षा उपायों की मांग को लेकर समुदाय का धरना रविवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। शुक्रवार को प्रांतीय राजधानी क्वेटा के एक बाजार में आईएसआईएस के एक हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था। इस घटना में 21 लोगों की मौत हो गयी थी तथा 60 अन्य लोग घायल हो गए थे।
आईएसआईएस ने शनिवार (13 अप्रैल) को हमलावर की एक तस्वीर जारी कर कहा था कि हमले में शिया मुस्लिमों को निशाना बनाया गया था। डॉन न्यूज टीवी की खबर के अनुसार पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) अब्दुल रजाक चीमा ने कहा कि आतंकवाद विरोधी विभाग के वरिष्ठ अधिकारों की एक टीम ने घटनास्थल का दौरा किया ताकि सबूत एकत्र किए जा सकें।
आईएस ने क्वेटा हमले की जिम्मेदारी ली
इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने पाकिस्तान के शहर क्वेटा में एक सब्जी व फल बाजार में हुए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी ली है। आतंकवादी समूह ने शनिवार को एक बयान में कहा कि उसके एक सदस्य ने आत्मघाती हमले को अंजाम दिया जिसमें शिया समुदाय के कई सदस्य और पाकिस्तानी सैनिक मारे गए और घायल हो गए। पाकिस्तान की तरफ से अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।
प्रांतीय गृह मंत्री मीर जिया उल्लाह लैंगौ ने स्थानीय मीडिया को बताया कि अर्धसैनिक बल फ्रंटियर कॉर्प्स (एफसी) का एक जवान और दो बच्चों सहित कम से कम 21 लोग मारे गए, जबकि चार एफसी कर्मियों सहित 48 लोग शुक्रवार के हमले में घायल हो गए। क्वेटा पुलिस के उप महानिरीक्षक अब्दुल रज्जाक चीमा ने कहा कि विस्फोट में अल्पसंख्यक शिया मुसलमानों के हजारा समुदाय को निशाना बनाया गया और मारे गए लोगों में हजारा समुदाय के कम से कम आठ लोग शामिल हैं।
आंतरिक मामलों की सीनेट की स्थायी समिति ने भी गृह मंत्रालय से आतंकवादियों के खिलाफ और हजारा समुदाय के लोगों की हत्याओं में शामिल संगठनों पर प्रतिबंध के संबंध में अब तक की गई कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी। समिति ने क्वेटा विस्फोट और हजारा समुदाय के सदस्यों को लगातार निशाना बनाए जाने के मामले पर गंभीर चिंता व्यक्त की।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *