दिल्ली

चांदनी चौक : 5 ‘सीक्रेट’ लॉकर्स से मिले और 5 करोड़, अब तक 30 करोड़ रुपये बरामद

नई दिल्ली | दिल्ली के चांदनी चौक में एक दुकान के नीचे मिले लॉकरों में से रकम बरामद होने का सिलसिला निरंतर जारी है। आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार, 5 और लॉकरों से 5.4 करोड़ रुपये नकद जब्त किए गए हैं। अब तक नकद जब्त की कुल राशि 30.4 करोड़ रुपये बताई जा रही है। वहीं, 175 लॉकर अभी तक खोले ही नहीं जा सके हैं।
जानकारी के अनुसार, आयकर विभाग ने बीते दिनों दिल्ली के चांदनी चौक बाजार की एक दुकान में छापेमारी की थी जहां उन्हें 300 लॉकर मिले थे जिनमें पैसे भरे थे। छापेमारी के बाद विभाग ने इन लॉकरों को सील कर दिया था। विभाग की तरफ से सील किए गए 300 लॉकरों में से 100 लॉकर विभाग समेत लॉकर संचालित करने वाली कंपनी के लिए भी पहेली बने हुए हैं।
आयकर विभाग के लिए पहेली बन गए चांदनी चौक के 100 लॉकर, आखिर हैं किसके?
असल में लॉकर को जब्त करने के बाद 200 लॉकर मालिक तो जांच के लिए सामने आ गए, लेकिन 100 लॉकर मालिकों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। आयकर विभाग ने 5 नवंबर को चांदनी चौक के खारी बावली में फकीर चंद लॉकर्स एंड वॉल्टस प्राइवेट लिमिटेड के नाम से चल रहे लॉकर को जांच के लिए सीज कर दिया था। इसमें कुल 300 लॉकर थे। तब से अब तक आयकर विभाग 150 लॉकर को खोल कर जांच कर चुका है। इसमें से 25 करोड़ मिलने की बात सामने आई है।
लॉकर संचालित करने वाली कंपनी के स्वामी अशोक कुमार के अनुसार बाकी बचे 150 लॉकर में से 50 लॉकर मालिकों की चाबियां जांच के लिए रखी हुई हैं। जबकि 100 लॉकर मालिक ऐसे हैं, जो लॉकर आवंटित होने के बाद से एक-दो बार के बाद से नहीं आए।
हवाला रैकेट चलाए जाने का शक
दरअसल नया बाजार में एक छोटी सी दुकान में ड्राई फ्रूट्स और साबुन का बिजनेस चल रहा था, लेकिन उसकी आड़ में दुकान के बेसमेंट में करीब 100 प्राइवेट लॉकर्स बनाए गए थे। 5 नवंबर को इनकम टैक्स की टीम को वहां हवाला रैकेट चलाने की जानकारी मिली। जिसके बाद टीम अचानक दुकान में पहुंच गई और 25 करोड़ रुपए जब्त किए। इसके अलावा वहां 100 लॉकर्स भी थे जिनमें पैसे भरे हुए थे। आईटी डिपार्टमेंट के सूत्रों ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि आईटी ने दिल्ली के आठ ठिकानों में छापेमारी की है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *