अंतर्राष्ट्रीय

जुलाई में अंतरिक्ष सैर पर निकलेंगे अरबपति रिचर्ड ब्रैन्सन

वॉशिंगटन। ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रैन्सन जल्द ही अपने वर्जिन गैलेक्टिक अंतरिक्ष यान से अंतरिक्ष की यात्रा करने की योजना बना रहे हैं। एयर एंड स्पेस म्यूजियम में वर्जिन गैलेक्टिक के सम्मान समारोह के दौरान ब्रैन्सन ने यह खुलासा किया है। बकौल ब्रैन्सन, मेरी इच्छा है कि चांद पर कदम रखने की 50वीं वर्षगांठ पर अगले चार-पांच माह के भीतर मैं अंतरिक्ष यात्रा पर जाऊं।
कुछ मिनट की होगी यात्रा :
वर्जिन गैलेक्टिक और ब्लू ओरिजिन दो ऐसी कंपनियां हैं जो यात्रियों को अंतरिक्ष की यात्रा पर भेजने की दिशा में काम कर रही हैं। हालांकि लोगों की यह यात्रा महज कुछ ही मिनट के लिए होगी। कंपनियां यात्रियों को सब-ऑर्बिटल उड़ानों पर भेजने की योजना बना रही हैं ताकि लोग अंतरिक्ष यात्रा का लुत्फ ले सकें। सबऑर्बिटल उड़ानों के तहत अंतरिक्ष यान पृथ्वी की कक्षा का चक्कर नहीं लगाएंगे।
सस्ती होगी यात्रा :
माना जा रहा है कि यह मिशन वर्ष 2023 तक जापानी अरबपति को अंतरिक्ष यात्रा पर भेजने वाले स्पेसएक्स के मिशन से सस्ते होंगे।
इसरो भी तैयार :
भारत अंतरिक्ष में अपने पहले मानव मिशन के सपने को साकार करने के लिए पूरी तरह तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले स्वतंत्रता दिवस पर गगनयान परियोजना की घोषणा की थी। इसके मुताबिक, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) दिसंबर 2021 में अंतरिक्ष में पहला मानव मिशन भेजेगा। इसमें वैज्ञानिक के साथ एक आम नागरिक को भी जाने का मौका दिया जाएगा। इसरो अध्यक्ष डॉ. के सिवन के अनुसार, हम चाहते हैं कि अंतरिक्ष में कोई महिला वैज्ञानिक जाए। यह हमारा लक्ष्य है। हम पुरुष और महिला, दोनों वैज्ञानिकों को प्रशिक्षित करेंगे।
क्या है आवेदन प्रक्रिया :
अंतरिक्ष में भेजने के लिए इसरो चयन करेगा। सामान्य तौर पर कोई भी आम नागरिक इसके लिए आवेदन कर सकता है। चयन और प्रशिक्षण की एक पूरी प्रक्रिया की जाएगी। इसके बाद मानव मिशन पर भेजा जाएगा। ृ
आंकड़ों में
45 साल से चांद पर कोई इंसान नही गया
12 लोग ही अब तक चांद पर कदम रख पाए
01 लाख 81 हजार 400 किलो का मानव निर्मित मलबा पड़ा है चांद पर
81 अरब टन करीब चांद का वजन है
10 किलो वजन होगा चांद पर, यदि आप का वजन धरती पर 60 किलो है

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *