उत्तर प्रदेश

पीडब्ल्यूडी के अभियंताओं से मकानों की जांच कराएं : विधायक

साहिबाबाद। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा तुलसी निकेतन कॉलोनी के 2292 ईडब्ल्यूएस और एलआइजी फ्लैटों के जर्जर होने की रिपोर्ट को लेकर बुधवार को टंकी वाले पार्क में स्थानीय लोगों ने आमसभा की। सभा में पहुंचे साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा ने लोगों का किसी भी कीमत पर अहित नहीं होने देने का आश्वासन देते हुए कहा कि वह जीडीए उपाध्यक्ष से बात करेंगे कि एक-एक मकानों की जांच लोक निर्माण विभाग के अभियंताओं से कराई जाए। उन्होंने आश्वस्त किया कि पीडब्ल्यूडी के अभियंताओं की रिपोर्ट के बाद विचार-विमर्श व स्थानीय निवासियों के साथ बातचीत कर कोई कदम उठाया जाएगा। लोग नि¨श्चत होकर अपने-अपने मकानों में रहें। किसी को डरने की जरूरत नहीं है। बोलीं महिलाएं, जीडीए अधिकारी आए तो होगा बवाल : तुलसी निकेतन के टंकी वाले पार्क में दोपहर करीब साढ़े ग्यारह बजे से ही स्थानीय लोग जुटने लगे। 12 बजते-बजते पार्क में हजारों लोग एकत्र हो गए। लोगों ने जीडीए के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस बीच साहिबाबाद विधायक सुनील शर्मा मौके पर पहुंचे। उन्होंने लोगों को शांत कराते हुए कहा कि भयभीत होने की कोई जरूरत नहीं है, वही होगा जो आप लोग चाहेंगे। इस पर कई महिलाओं ने कहा कि मकानों को तोड़ने जाने की खबर सुनकर उन लोगों की भूख-प्यास मिट गई है। उन्होंने सुबह से नाश्ता तक नहीं किया है। कुछ महिलाओं ने कहा कि जीडीए के अधिकारी मकान तोड़ने आए, तो यहां बवाल होगा। इस पर विधायक ने कहा कि मोदी और योगी सरकार में कभी भी गरीबों का अहित नहीं होगा। घर जाकर रोटी और हलुआ बनाकर खाइए। नि¨श्चत होकर घर में सोईए। आपने जागने के लिए मुझे चौकीदार नियुक्त किया है। अभियंताओं से कराएंगे जांच
सुनील शर्मा ने कहा कि यहां पर छज्जा व प्लास्टर गिरने की सूचना मिली है। देखने से भी लगता है कि कुछ मकानों की हालत खराब है। भविष्य में कोई दुर्घटना न हो यह सावधानी रखनी हमारी जिम्मेदारी है। दो-तीन दिन में जीडीए उपाध्यक्ष से बात करूंगा कि उनके अभियंताओं की रिपोर्ट के आधार पर ही मकानों को जर्जर नहीं माना जाएगा। पीडब्ल्यूडी के अभियंताओं से एक-एक मकान की जांच कराई जाए। यदि पीडब्ल्यूडी के अभियंता यह राय देते हैं, कि मकान मजबूत व पुख्ता हैं, तो इन्हें नहीं छेड़ा जाएगा। अगर कहते हैं कि मकान सुरक्षित नहीं हैं, खतरा है, तो उस पर विचार-विमर्श किया जाएगा। स्थानीय लोगों के साथ बैठक कर राय मशविरा ली जाएगी। उसके बाद आप लोगों के हित में ही निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि आप और मैं यही चाहूंगा कि सुरक्षित मकान में रहें। अधिकारियों के साथ बैठक करूंगा। यदि आवश्यकता पड़ेगी तो एक – एक मकान बनाने और काम पूरा होते ही कब्जा देने को कहेंगे। इस दौरान जीडीए की जिम्मेदारी होगी कि पहले आप लोगों के रहने की व्यवस्था करे, उसके बाद मकानों को तोड़े। इस दौरान आरडब्ल्यूए अध्यक्ष कुलदीप कसाना ने विधायक को मांग पत्र सौंपा। कुलदीप कसाना ने बताया कि विधायक ने आश्वस्त किया है कि वह उनके साथ हैं, आवश्यकता पड़ेगी, तो विधान सभा में इस मुद्दे को उठाएंगे। इस मौके पर बलवंत रावत, राकेश गोयल, राहुल, पवन बब्बर, महादेव कौशिक, अशोक सचदेवा, रानी, अनीता, रिया, बाला देवी आदि मौजूद रहीं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *