खेल

प्रवीण कुमार ने विश्व कप से लिए चुनी भारतीय टीम, इन्हें दी जगह

नई दिल्ली। 30 मई से इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप के लिए भारतीय टीम का चयन 15 अप्रैल को होना है। टीम की दुविधा नंबर चार के बल्लेबाज की है। 2011 में चोट की वजह से विश्व कप खेलने से चूकने वाले भारत के पूर्व तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार ने विश्व कप के लिए अपनी 15 सदस्यीय टीम बताई है।

पहला ओपनर-शिखर धवन

प्रवीण ने कहा कि शिखर धवन भले ही अभी अच्छी फॉर्म में नहीं चल रहे हैं, लेकिन आइसीसी टूर्नामेंट में उनका रिकॉर्ड अच्छा रहा है। 2013 चैंपियंस ट्रॉफी इंग्लैंड में हुई थी, जहां उन्होंने काफी रन बनाए थे। इसके अलावा 2016 में इंग्लैंड में ही हुई चैंपियंस ट्रॉफी में भी उनका बल्ला अच्छा चला था। ऐसे में सलामी बल्लेबाज के तौर पर वह फिट हैं।

दूसरा ओपनर-रोहित शर्मा

पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि रोहित अब तक भले ही आइपीएल में विफल रहे हैं, लेकिन रोहित का इंग्लैंड में काफी अच्छा प्रदर्शन रहा है। धवन के साथ मिलकर उन्होंने वहां कई बार भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई है। इस बार भी उन पर टीम को अच्छी शुरुआत दिलाने की जिम्मेदारी होगी।
तीन नंबर-विराट कोहली (कप्तान)

तीन नंबर पर विराट कोहली तो होंगे ही। उनसे बेहतर इस स्थान पर तो पूरे विश्व में भी कोई बल्लेबाज नहीं है। वह आगे आकर टीम का नेतृत्व करते हैं। भारतीय टीम की बल्लेबाजी उनके ही इर्द गिर्द होगी।
नंबर-चार, अंबाती रायुडू
अंबाती रायुडू नंबर चार के लिए सही हैं। भले ही उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज में रन नहीं बनाए हैं। इससे पहले उन्होंने न्यूजीलैंड में अच्छा प्रदर्शन किया था। कुछ पारियों की वजह से आप उन्हें दरकिनार नहीं कर सकते हैं। रायुडू को मौका मिलेगा, तो उनके अंदर आत्मविश्वास आ जाएगा और वह विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं। वह आइपीएल में भी अच्छा कर रहे हैं।
नंबर पांच-केदार जाधव
केदार जाधव मध्य क्रम में मजबूती प्रदान करेंगे। वह टीम के लिए अच्छे हैं। जल्दी विकेट खोने के बाद उनमें टीम को संभालने की क्षमता है। ऐसा उन्होंने कई बार करके भी दिखाया है। विश्व कप में भी उन पर यही जिम्मेदारी होगी, जिस पर वह खरे उतरेंगे। जाधव और धौनी को पांचवें या छठे नंबर में स्थिति के हिसाब से बदल सकते हैं। वह गेंदबाजी भी कर सकते हैं और उनका एक्शन समझना काफी बल्लेबाजों के लिए मुश्किल काम है।
नंबर छह-महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर)
महेंद्र सिंह धौनी से अच्छा फिनिशर पूरी दुनिया में नहीं है। टीम इंडिया विश्व कप में भी उनसे यही उम्मीद करेगी कि वह अंत तक खड़े होकर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाए। धौनी की ना सिर्फ बल्लेबाजी, बल्कि विकेट के पीछे उनकी चपलता भी टीम के लिए अहम होगी। वहीं कप्तान कोहली को भी रणनीति बनाने में उनसे काफी मदद मिलेगी। लोग भले ही उनकी उम्र पर सवाल उठा रहे हों लेकिन उन्होंने आइपीएल में दिखाया है कि वह अभी भी फिनिशर की भूमिका निभा रहे हैं। उनका छठे नंबर पर खेलना उचित होगा।
नंबर सात, हार्दिक पांड्या
हार्दिक पांड्या टीम में संतुलन पैदा करते हैं। वह अंत में आकर तेजी से बल्लेबाजी भी कर लेते हैं और मध्य ओवरों में विकेट भी निकाल लेते हैं। वह विश्व कप टीम में रहेंगे तो तीसरे तेज गेंदबाज की भूमिका के लिए भी सटीक होंगे। इंग्लैंड के मौसम और पिच को देखते हुए वह टीम के लिए अहम हैं।
नंबर आठ, कुलदीप यादव
इंग्लैंड में जिस वक्त विश्व कप हो रहा है, वहां गर्मियां रहेंगी। ऐसे में वहां की परिस्थितियां स्पिनरों के लिए अनुकूल होंगी। चाइनामैन कुलदीप यादव मध्य ओवरों में विकेट चटकाने में माहिर हैं। विश्व कप में आगे आकर टीम को जरूरी सफलता दिला सकते हैं। सबसे खास बात यह है कि उनकी चाइनामैन को समझना इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के लिए पहेली होगा।
नंबर नौ, युजवेंद्रा सिंह चहल
दूसरे स्पिनर में युजवेंद्रा सिंह चहल का होना पक्का है। वह अच्छी लय में हैं। कलाई के स्पिनर होने के चलते वह दायें हाथ के बल्लेबाजों के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं। कुलदीप के साथ चहल टीम में होंगे तो दोनों की जोड़ी बल्लेबाजों पर खासा दबाव बनाएगी। इन दोनों की जोड़ी अच्छी है।
नंबर-10, भुवनेश्वर कुमार
तेज गेंदबाजों में भुवनेश्वर कुमार का होना टीम इंडिया के लिए इंग्लैंड में फायदेमंद होगा। इंग्लैंड की तेज पिचों पर उन्हें स्विंग मिलेगी और सभी जानते हैं कि भुवनेश्वर दोनों ओर स्विंग कराने में माहिर हैं। हालांकि सफेद गेंद से स्विंग कम मिलती है लेकिन इंग्लैंड में मौसम बदलता रहता है जिसका फायदा स्विंग गेंदबाजों को मिलता है।
नंबर-11, जसप्रीत बुमराह
जसप्रीत बुमराह विश्व के दिग्गज गेंदबाज के तौर पर उभरे हैं। कुछ वर्षो में ही उन्होंने काफी सफलता पा ली है। उनके टीम में होने से भारत की गेंदबाजी बेहद मजबूत हुई है। विश्व कप में उनके 10 ओवर बेहद मायने रखेंगे। उनमें अपने दम पर भारत को जीत दिलाने की ताकत है। खास तौर पर पावर प्ले और आखिरी ओवरों में उनकी यॉर्कर का कोई जोड़ नहीं है। इससे भारत को विपक्षी टीम को कम स्कोर पर रोकने में मदद मिलेगी।
अतिरिक्त तेज गेंदबाज, मुहम्मद शमी
मुहम्मद शमी को तीसरे तेज गेंदबाज के तौर पर ले जाया जा सकता है। वह इस समय आइपीएल में अच्छी लय में है। तेज पिच पर एक स्पिनर की जगह शमी को आजमाना सही रहेगा। विश्व कप में वह भी टीम के लिए जरूरत हैं।
अतिरिक्त ओपनर, केएल राहुल
केएल राहुल को तीसरे सलामी बल्लेबाज के तौर पर ले जाना सही रहेगा। आइपीएल में अब वह फॉर्म में भी लौट आए हैं। धवन अगर नहीं चल पाते हैं तो राहुल को विश्व कप में सलामी बल्लेबाज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। वह शुरू में आकर तेजी से रन भी निकाल सकते हैं।
अतिरिक्त विकेटकीपर, दिनेश कार्तिक
दूसरे विकेट कीपर के तौर पर दिनेश कार्तिक अहम हो सकते हैं। उन्हें रिषभ पंत पर तरजीह दी जानी चाहिए। ऐसा इसीलिए क्योंकि उनके पास अपार अनुभव है। अगर विश्व कप में नंबर चार पर रायुडू फेल होते हैं, तो टीम प्रबंधन उन्हें इस स्थान पर खिलाने के बारे में भी सोच सकता है। वह मुख्य बल्लेबाज के तौर पर भी टीम का हिस्सा हो सकते हैं। उन्हें चौथे नंबर पर भी खिलाया जा सकता है और फिनिशर के तौर पर उनका उपयोग किया जा सकता है।
अतिरिक्त स्पिनर, रवींद्र जडेजा
जडेजा तीसरे स्पिनर के तौर पर विश्व कप में जा सकते हैं। जडेजा के पास काफी अनुभव है और स्पिनरों के मुनासिब पिच होने पर तीसरे स्पिनर के तौर पर भी कोहली उन्हें खिला सकते हैं। जडेजा बल्लेबाजी भी कर लेते हैं, जिससे टीम की बल्लेबाजी भी मजबूत होगी। कुलदीप, चहल में किसी के चोटिल होने या आउट ऑफ होने पर भी जडेजा का अच्छा उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन किया था।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *