Home साक्षात्कार

साक्षात्कार

साक्षात्कार
उत्तर प्रदेश में भगवा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम मंदिर निर्माण पर खुल कर बोलने लगे तो उत्तेजक बयान देने वाली भाजपा की फायरब्रांड नेता मंडली फिर फार्म में आ गई। उत्तर प्रदेश में उमा भारती तो बिहार में गिरिराज सिंह मोर्चा संभाल रहे हैं। जिन श्रीराम के नाम पर भारतीय जनता पार्टी तमाम दलों को […]Continue Reading
साक्षात्कार
हमारे देश में 9 करोड़ से अधिक वाल्मीकि हैं। लेकिन हर शहर, संस्थान और गांव में सफाई कर्मचारी के नाते वाल्मीकि ही क्यों मिलते हैं ? दुनिया में इससे बढ़कर अभिशाप किसी और जाति को मिला है कि जो जन्मते ही सफाई कर्मचारी बन जाये ? बाबा साहेब अम्बेडकर का स्मरण सामान्यतः लकीर के फकीर […]Continue Reading
साक्षात्कार
पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव सम्पन्न हो गये हैं और इन चुनावों के जो परिणाम आयेंगे वे आने वाले समय में भारत की राजनीति की दिशा तय करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन चुनाव परिणामों को प्रभावित करने के लिये ईवीएम मशीनों से छेड़छाड़ की आशंका करते हुए ट्विट किया और प्रत्येक कांग्रेसी को […]Continue Reading
साक्षात्कार
भारत का सबसे प्रसिद्ध त्योहार दीपोत्सव विदेशों के आँगन भी रोशन करता है। शहरों में त्योहारों का स्वरूप अब ज़्यादा व्यवसायिक होता जा रहा है। पर्वों की आत्मीयता कम हो रही है लेकिन हिमाचल प्रदेश में पुरातन संस्कृति व मेले और त्योहारों में आत्मीयता काफी हद तक कायम है। यहाँ हर बरस दीपावली के एक […]Continue Reading
साक्षात्कार
अगस्ता-वेस्टलैंड हेलिकॉप्टरों के सौदे में बिचौलिए का धंधा करने वाले क्रिश्चियन मिशेल को आखिरकार हमारी सरकार ने धर दबोचा है। वह बधाई की पात्र है। 3000 करोड़ के इस सौदे में लगभग 300 करोड़ रु. की रिश्वत बांटने वाले इस दलाल को दुबई से पकड़ कर अब दिल्ली ले आया गया है। जांच ब्यूरो के […]Continue Reading
साक्षात्कार
कश्मीर में पाकिस्तान द्वारा छेड़ी गई तथाकथित आजादी की जंग का खमियाजा आज उन्हीं मुस्लिम परिवारों को भुगतना पड़ा है जिन्होंने कभी आतंकवादियों तथा पाकिस्तान के बहकावे में आकर सड़कों पर निकल आजादी समर्थक प्रदर्शनों में भाग लिया था। हालांकि आजादी का सपना तो पूरा नहीं हुआ परंतु परिवारों के कई परिजनों को जीवन से […]Continue Reading
साक्षात्कार
भारतीय समाज में सामाजिक समता, सामाजिक न्याय, सामाजिक अभिसरण जैसे समाज परिवर्तन के मुददों को उठाने वाले भारतीय संविधान के निर्माता व सामाजिक समरसता के प्रेरक भारतरत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को महू मध्यप्रदेश में हुआ था। इनके पिता रामजी सकपाल व माता भीमाबाई धर्मप्रेमी दंपत्ति थे। अम्बेडकर का जन्म महार […]Continue Reading
साक्षात्कार
भारतीय समाज में सामाजिक समता, सामाजिक न्याय, सामाजिक अभिसरण जैसे समाज परिवर्तन के मुददों को उठाने वाले भारतीय संविधान के निर्माता व सामाजिक समरसता के प्रेरक भारतरत्न डॉ. भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को महू मध्यप्रदेश में हुआ था। इनके पिता रामजी सकपाल व माता भीमाबाई धर्मप्रेमी दंपत्ति थे। अम्बेडकर का जन्म महार […]Continue Reading
साक्षात्कार
भारत रत्न डॉ. भीमराव आंबेडकर सिर्फ दलितों के ही नहीं बल्कि सर्व समाज के हितैषी थे। लिंग भेद पर प्रहार करने वाले और समान नागरिक संहिता की वकालत करने वाले डॉ. अंबेडकर भारत वर्ष के पहले चिंतक थे। डॉ. आंबेडकर’ ने सामाजिक उत्पीड़न और वंचना के शिकार लोगों के लिए आजीवन संघर्ष किया। वे अपने […]Continue Reading
साक्षात्कार
देश का यह दुर्भाग्य है कि पढ़ा−लिखा तबका और बुद्धिजीवी समाज राजनीति पर चर्चा तो खूब करता है, लेकिन राजनीति के मैदान में कदम रखने का साहस नहीं जुटा पाता है। यही वजह है कि राजनीति में अधकचरा ज्ञान रखने वालों और स्वार्थी लोगों की भरमार है। राजनीति के लिये योग्यता का कोई पैमाना नहीं […]Continue Reading